कारोबार

समूह की महिलाओं ने सीखे जैविक खेती के गुरु

रिपोर्ट, दिनेश शर्मा

बहराइच – उत्तर प्रदेश ग्रामीण आजीविका मिशन, बहराइच और जिला प्रशिक्षण केन्द्र, चितौरा के संयुक्त तत्वावधान में कृषि सखी की तीन दिवसीय प्रशिक्षण सम्पन्न हुई। यह प्रशिक्षण सुरेन्द्र कुमार गुप्त, उपायुक्त स्वतः रोजगार के निदेशन में आयोजित थीं। डॉ सी के वर्मा, जिला प्रशिक्षण अधिकारी ने प्रतिभागियों के उत्साहवर्धन किया।
वरिष्ठ प्रशिक्षण अधिकारी, नरेश चन्द्र राणा ने बताया कि महिलाओं को प्रशिक्षण में खेती संबंधी जानकारी दी गई, जो महिलाएं स्वयं के खेती में प्रयोग करके एवं अपने-अपने समूह की समस्त महिलाओं को खेती के गुण सिखाएंगी। आखरी दिन प्रशिक्षण के समापन के वक्त महिलाओं में एक अलग उत्साह देखा गया ।
मुख्य रूप से कृषि का महत्व, मिट्टी क्या है, खाद एवं खाद के प्रकार, अच्छी गुणवत्ता के बीच की पहचान, फसल पद्धतियां एवं फसल चक्र, पोषक तत्व प्रबंधन, सिंचाई की विधियां, जैविक खेती के लाभ एवं रसायन से होने वाली हानियां, बीज भंडारण, बायो कीटनासिक बनाने की विधि कृषि सखी को सिखाया गया।
प्रशिक्षण यंग प्रोफेशनल अनुज कुमार व शैलेश कुमार एवं आशुतोष सिंह, पीआरपी शिववचन कुमार द्वारा प्रोजेक्टर के माध्यम से दिया गया। मौके पर रुकमणी देवी, माया देवी नैना देवी, उषा देवी, सरस्वती देवी, हिरण परी देवी, कलावती देवी,किरण देवी, हसीना बानो, बबीता देवी सहित 32 सदस्यों ने प्रतिभागी उपस्थित रही।
ब्लॉक एंकर पर्सन, नंदकिशोर साह ने बताया कि भारत कृषि प्रधान देश हैं, जो मौनसून पर आधारित हैं। इन परिस्थितियों में कम जमीन पर ज्यादा उपज हो। इसलिए ग्रामीण क्षेत्र में महिला किसानों को उन्नत किस्म की बीज उपयोग करने, मृदा परीक्षण कराने और वैज्ञानिक दृष्टिकोण से जैविक खेती करने हेतु जागरूक किया जा रहा है।

News Plus India
प्रधान सम्पादक : विजय पाण्डेय, सह सम्पादक : दिनेश मिश्र,उप संपादक बृजेश यादव,ताजुल हुसैन। विधिक सलाहकार : एडवोकेड वी.के.मिश्र, खबरों से सम्बंधित किसी भी शिकायत की सुनवाई हाई कोर्ट लखनऊ के अधीन होगी।
http://newsplusindia.in