धर्म

कड़ी सुरक्षा के बीच निकाला गया मोहर्रम की सातवीं दुलदुल का जुलूस…पढ़ें पूरी खबर

 

Report : Rajesh Pandey

श्रावस्ती।
मोहर्रम की सातवीं पर दुलदुल का जुलुस निकाला गया। इस दौरान पुरे इलाके में अकीदतमंदों के या अली या हुसैन की गूंजों के साथ जुलूस निकला। मुहर्रम इस्लाम धर्म में विश्वास करने वाले लोगों का एक प्रमुख त्यौहार है। मुहर्रम इस्लामी साल का पहला महीना होता है। इसे हिजरी भी कहा जाता है। हिजरी सन की शुरूआत इसी महीने से होती हैं ताज़ियेदारो ने बताया कि आज मोहर्रम की सातवीं तारीख है। जिसमे दुलुद्ल का जुलुस बड़े ही गम के साथ निकला गया। सातवीं मोहर्रम हजरते अब्बास की यादो में मनाया जाता है। मोहर्रम का महिना गम का महिना है। इमाम हुसैन और उनके बहत्तर साथियों को कर्बला में शहीद कर दिया गया था।
उनकी की याद में मोहर्रम मनाया जाता है सुरक्षा व्यवस्था में जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक खुद जुलूस पर नजर बनाए हुए थे। जिलाधिकारी दीपक मीणा ने बताया कि मोहर्रम दुलदुल के जुलूस निकाले जा रहे हैं। यह जुलूस जिले के विभिन्न विभिन्न क्षेत्रों से निकल रहे हैं।जो कर्बला तक जाएंगे और वहां से मिट्टी लेकर वापस सूरज डूबते डूबते जुलूस वापस आ जाता है।
पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि
सभी क्षेत्रों में अलग से विशेष पुलिस बल तैनात किया गया हैं। इस सुरक्षा व्यवस्था में लगे सभी सुरक्षाकर्मियों को जुलूस की जिम्मेदारियां बांटी गई हैं। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम है जनता के सहयोग से शांतिपूर्ण तरीके से निपटाया जाएगा।
रिपोर्ट-राजेश कुमार पाण्डेय

News Plus India
साप्ताहिक समाचार पत्र व न्यूज पोर्टल
http://newsplusindia.in