स्वास्थ्य

कोरोना काल में डेंगू से बचाव भी है बेहद जरूरी

मच्छर के काटने से होने वाली बीमारियाँ बरसात के मौसम और उसके फौरन बाद के महीनों यानी जुलाई से अक्टूबर में सबसे ज्यादा फैलती हैं,

रिपोर्ट, दिनेश शर्मा न्यूज़ प्लस इन्डिया 

बहराइच, 28 सितंबर 2020 : कोविड-19 महामारी के साथ बरसात में होने वाली बीमारियां भी पाँव पसारना शुरू कर दी हैं। इनमें विशेषकर डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया जैसी बीमारियाँ प्रमुख हैं । मच्छर के काटने से होने वाली बीमारियाँ बरसात के मौसम और उसके फौरन बाद के महीनों यानी जुलाई से अक्टूबर में सबसे ज्यादा फैलती हैं, क्योंकि इस मौसम में मच्छरों के पनपने के लिए अनुकूल परिस्थितियां होती हैं। बारिश के समय में गड्ढों, अनुपयोगी बर्तनों, टायरों, गमलों आदि में पानी जमा होने से मच्छर पनपने लगते हैं, जिनके काटने से डेंगू जैसी जानलेवा बीमारी हो सकती है |
संचारी रोग के नोडल अधिकारी डिप्टी सीएमओ डॉ अनिल कुमार के अनुसार डेंगू एक मच्छर जनित बीमारी है जो मादा एडीज मच्छर के काटने से होती है। यह मच्छर साफ़ व ठहरे पानी में पनपता है। एडीज इजिप्टी मच्छर बहुत ऊंचाई तक नहीं उड़ पाता तथा इन मच्छरों के शरीर पर चीते जैसी धारियां होती हैं | यह मच्छर दिन में खासकर सुबह के समय काटते हैं। डॉ अनिल के अनुसार कोविड-19 के संक्रमण काल में डेंगू से बचने के लिये हमारी जिम्मेदारी और भी बढ़ जाती है, क्योंकि इसकी चपेट में आने से बॉडी की इम्युनिटी कम हो जाती है, जिससे कोविड-19 का संक्रमण होने की आशंका बढ़ जाती है। इसलिये डेंगू से बचाव के लिये विशेष कदम जरूर उठाएं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना संक्रमण के साथ ही साथ डेंगू, मलेरिया आदि बीमारियों के अभियान के अंतर्गत लोगों को जागरुक किया जा रहा है।
डेंगू के लक्षण :-
 अचानक तेज सिरदर्द व बुखार का होना |
 मांसपेशियो तथा जोड़ो मे दर्द होना |
 आंखो के पीछे दर्द होना,जो की आंखो को घुमाने से बढ़ता है |
 जी मिचलाना एवं उल्टी होना |
 गंभीर मामलों में नाक, मुंह, मसूड़ो से खून आना व त्वचा पर चकत्ते उभरना।

डेंगू से कैसे बचें :-
 घर और कार्यस्थल के आस पास कहीं भी पानी जमा न होने दें |
 कूलर, ड्रम, फ्रिज, गमले, पशु – पक्षियों के पानी के वर्तन आदि को हर सप्ताह खाली कर सुखाएं |
 पुराने टायर, प्लास्टिक के कप, बोतलों में पानी एकत्र न होने दें |
 दरवाजों व खिड़कियों पर जाली लगवाएं |
 छत पर कबाड़, टूटे फूटे प्लास्टिक व शीशे के पात्र जमा न होने दें |
 पानी की टंकी को पूरी तरह ढ़क कर रखें |
 मच्छरों के काटने से बचने हेतु पूरी आस्तीन के कपड़े पहने एवं सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग नियमित करें |
डेंगू होने पर क्या करें :-
 बुखार के समय पानी, नारियल पानी, शिकंजी और तरल पदार्थों का अधिक सेवन करें |
 तेज बुखार, सिर दर्द, आँखों के पीछे एवं मांसपेशियों में दर्द तथा थकान होने पर नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र से सम्पर्क करें |
 दर्द निवारक औषधियां जैसे एस्प्रिन, कार्टीसोन, ब्रूफेन एवं एंटीबायोटिक आदि का सेवन बिना चिकित्सीय सलाह के कदापि न करें |
 बीमारी होने पर नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर सम्पर्क करें और झाड -फूंक झोला छाप डॉक्टरों से बचे।

कोरोना काल में रखें विशेष ख्याल –
 घर और कार्यस्थल के आस पास कहीं भी पानी जमा न होने दें |
 पानी उबाल कर प्रयोग करें।
 फल एवं सब्जियों को अच्छी तरह धोकर ही प्रयोग करें |
 ठंडा या बासी खाने का प्रयोग बिल्कुल न करें |
 मास्क पहनकर रखें, हाथों को सेनिटाइज़ करते रहें, कम से कम दो गज की दूरी बनाकर रखें।

News Plus India
साप्ताहिक समाचार पत्र व न्यूज पोर्टल
http://newsplusindia.in