ब्रेकिंग न्यूज

नाग को मारते देख नागिन हुई बागी,चुनचुन कर लोगों से ले रही बदला

बीते दिनों नागपंचमी पर्व के दिन गांव वालों ने पीट-पीटकर सांप को मार डाला तब से लेकर आज तक बागी नागिन ने 31 लोगों को बारी बारी डसा।

रिपोर्ट, दिनेश शर्मा न्यूज़ प्लस इन्डिया बहराइच मो,9648944666

अभी तक आपने फ़िल्मों में नाग नागिन के बदले की कहानी देखी होगी जिसमें नाग को गांव वालों के मार देने के बाद जिंदा बची नागिन गांव वालों से चुन – चुन कर बदला लेती है ऐसी ही एक घटना थाना रूपईडीहा के बाबागंज चिलबिला गांव की है जहां लहोरे बाबा का आश्रम है ग्रामीणों के अनुसार वहीं पर सांपों का एक जोड़ा काफी समय से रह रहा था लेकिन बीते दिनों नागपंचमी पर्व के दिन गांव वालों ने पीट-पीटकर सांप को मार डाला तब से लेकर आज तक बागी नागिन ने 31 लोगों को बारी बारी डसा जिसमें से एक की मौत भी हो चुकी है। गांव के लोगों का कहना है कि हम सभी लोग अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

अब तक बागी नागिन ने गांव के राधेश्याम पुत्र भगीरथ उम्र 30, परमा देवी पत्नी राधेश्याम उम्र 28,जगरानी पत्नी भगीरथ उम्र 65,रजनेश पुत्र बीखा उम्र 20, झल्ले पुत्र मोती उम्र 40,मो. शमी पुत्र ताहिर उम्र 12,मनोज पुत्र मदन उम्र 8,देवी पुत्र लालजी उम्र 20,सरस्वती पुत्री सूबेदार उम्र 12,नेहा पुत्री जोगराज उम्र 11,
मायावती पत्नी कुरकुट उम्र 50, मीना पुत्री गुल्ले उम्र 20को अपना निशाना बना चुकी है जबकि नागिन के काटने से मुनीश पुत्र शोभा उम्र 25 की मौत हो चुकी है। ऐसे में गांव वालों का बागी नागिन ने जीना दुश्वार कर रखा है। आज आलम ये है की नागिन बदला लेने के लिए गांव में अगर लोगों को काट रही है। जिससे पूरा गांव खौफजदा है। आए दिन 3/4 लोगों को सांप के काटने से आस पास के पड़ोसी गावों में काफी चर्चा का विषय बना हुआ है। गांव के भगीरथ व बीखा ने बताया की ये सिलसिला बीते नाग पंचमी से शुरू हुआ है, नाग पंचमी के दिन कुछ युवक गांव के पूरब दिशा में स्थित लहोरे बाबा के स्थल पर एक जोड़ा सांप में से एक सांप को मार देने से उसका जोड़ा आज गांव वालों के लिए मुसीबत का काल बना हुआ है। और देरसवेर किसी ना किसी ग्रामीण को निशाना बना रहा है। दहशत से गांव वालों को कब निजात मिलती है अभी कहना जल्दबाजी होगी। जबकि गांव वाले रात जाग-जागकर अपने छोटे बच्चों की हिफाजत करने को विवश है।

News Plus India
साप्ताहिक समाचार पत्र व न्यूज पोर्टल
http://newsplusindia.in