धर्म

कोरोना महामारी से मुक्ति के लिए काल भैरव का हुआ महापूजन

मध्यरात्रि तक तंत्रोक्त विधि से चली बाबा की पूजा पुष्प और टॉफियों से हुआ बाबा का श्रृंगार

रिपोर्ट दिनेश शर्मा न्यूज़ प्लस इन्डिया बहराइच मो,9648944666

बहराइच । त्रिमुहानी घाट के स्वर्ग धाम स्थित श्री श्री काल भैरव मन्दिर में श्रावण मास के द्वितीय रविवार को बाबा श्री काल भैरव भगवान का फूल व टॉफियों से भव्य श्रृंगार कर महापूजन किया गया । इस दौरान श्रद्धालुओं ने वैश्विक महामारी कोरोना से देश को निजात दिलाये जाने के लिए बाबा से प्रार्थना भी की ।
अघोर पीठ के रूप में स्थापित भूतभावन श्री काल भैरव जी की तंत्रोक्त विधान से पूजा अर्चना की गई । जो कि मध्यरात्रि तक चली और कोरोना महामारी से मुक्ति एवं देश की सुख समृध्दि की कामना की गई ।
अघोरी बाबा भैरव गौरव के शिष्य शाक्ताचार्य ईशान ने बताया कि शिव जी शर्व ,भव ,रुद्र ,उग्र ,भीम, पशुपति ,ईशान और महादेव ये आठ मूर्तियां सूत्र में मणियों के समान पिरोयी हुई हैं और भूमि जल अग्नि पवन आकाश सूर्य और चन्द्र क्रमशः उसमें अधिष्ठित हैं । शास्त्रों में वर्णन है कि शंकर महेश विश्वम्भर के रूप में इसी प्रकार चराचर जगत को धारण किये हुए हैं ।
साधक ईशान ने बताया कि परमात्मा शिव का भव रूप जलात्मक है जो संसार को जिलाने वाला है तथा संसार को पालता और चलाता है । शिव का उग्र नामक रूप जो संसार में भैरव नाम से प्रसिद्ध है । आकाशात्मक भीम रूप जिससे राग समुदाय का भेदन होता है । वैसे ही शिवार्चन से समस्त विश्व की पुष्टि होती है । सृष्टि की उत्तपत्ति पालन और संहार करने वाले रुद्र ही भैरव हैं । भगवान शंकर के भैरव रूप को ही सृष्टि का संचालक बताया गया है । जिनके नाम जप मात्र से अकाल मृत्यु और रोग शोक का हरण होता है । उन्होंने बताया कि श्रावण मास के रविवार को बाबा की आराधना विशेष फलदायी होती है । रविवार को हुई विशेष पूजा में 51 दीपों से श्री काल भैरव भगवान की आरती की गई ।
साधक ईशान ने बताया कि भैरव जी की पूजा में काली उरद से बने मिष्ठान इमरती दही बड़े और मेवे की खीर का भोग अत्यन्त लाभकारी है । इससे भैरव जी प्रसन्न होते हैं ।
रविवार के दिन भैरव जी दयालु रूप में भक्तों को दर्शन देते हैं । इस दिन भैरव जी के पूजन अर्चन से परिवार में सुख शान्ति समृद्धि के साथ ही स्वास्थ्य की रक्षा होती है और नकारात्मक ऊर्जा का क्षरण होता है ।
महादेव शंकर के पूर्ण रूप श्री काल भैरव जी की आराधना में कठोर नियमों का विधान नहीं है ,सामान्य पूजन घर पर किया जा सकता है किन्तु बाबा श्री काल भैरव का अघोर पूजन करने पर शीघ्र फलदायी होता है । इस अवसर पर कमेटी के प्रबन्धक दीपक सोनी दाऊ जी अध्यक्ष राहुल रॉय महामंत्री सुमित खन्ना कोषाध्यक्ष रजनीश विश्वकर्मा उदित रस्तोगी मुदित त्रेहन अंशू यज्ञसेनी आयुष सिंह विकास यज्ञसेनी रवि गुप्ता मोहित सोनी अंकित सिंह संजय श्रीवास्तव सहित सैकड़ों भक्तगण उपस्थित रहे ।

News Plus India
साप्ताहिक समाचार पत्र व न्यूज पोर्टल सूचना एवम प्रसारण मंत्रालय द्वारा स्वीकृत
http://newsplusindia.in