धर्म

लक्कड़ शाह की दरगाह पर बसन्त मेले मे उमडे जायरीन

फल-फूल की डालियाँ पेश कर माँगी मुल्क मे अमन-चैन की दुआ

*लक्कड़ शाह की दरगाह पर गागर-चादर चढाकर मजार पर टेका माथा*

*सालाना ज्येष्ठ मेला 29 मई शुक्रवार को होगा आयोजित*

*मिहीपुरवा-* कतर्निया घाट वन्य जीव विहार के मुर्तिहा रेंज मे स्थित हिन्दू-मुस्लिम एकता एवं गंगा जमुनी तहजीब का प्रतीक दरगाह हजरत सैयद हाशिम अली शाह उर्फ लक्कड़ शाह रह० अलैह की मजार पर बसन्त मेला परंपरागत तरीके से अत्यन्त धूमधाम के साथ मनाया गया | दरगाह प्रबन्ध कमेटी के सदर रईस अहमद ने परंपरानुसार फल-फूल व सब्जियों की डालियाँ पेश कर मुल्क मे सुख-समृद्धि व अमन-चैन की दुआ करायी | इस मेले मे पूर्वांचल व विभिन्न प्राँतों से आये जायरीनों ने हाजिरी लगायी | प्रबन्ध समिति के सेक्रेट्री इसरार अहमद इदरीसी ने बताया कि बसन्त मेले मे गोरखपुर, बलिया, देवरिया, बस्ती, आजमगढ़, सिद्धार्थनगर, लखनऊ, बाराबंकी, दिल्ली, बिहार, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, मुम्बई व नेपाल से आये जायरीनों ने शिरकत की और दरगाह पर हाजिरी लगाकर मुरादें माँगीं | इस दौरान कमेटी की तरफ से पाक दरगाह पर फल-फूल व सब्जियों की टोकरियाँ एवं खिचडी़ पेश की गयी तथा मजार शरीफ को फूलों से सजाया गया | सदर रईस अहमद के नेतृत्व मे मिहीपुरवा कस्बे से गागर-चादर लाकर मजार शरीफ पर चढा़कर मुल्क मे सुख-समृद्धि व अमन-चैन की दुआ माँगी गयी |
इस मौके पर सेक्रेट्री इसरार अहमद इदरीसी द्वारा ज्येष्ठ माह मे होने वाले मुख्य सालाना मेले की तिथि की घोषणा भी की गयी | दरगाह प्रबन्ध कमेटी के सेक्रेट्री इसरार अहमद इदरीसी ने बताया कि इस वर्ष का मुख्य सालाना ज्येष्ठ मेला 29 मई 2020 शुक्रवार को आयोजित होगा | बसन्त मेले के मद्देनजर जायरीनों के ठहरने, पेयजल, साफ-सफाई, व रंगाई-पुताई की मुकम्मल व्यवस्था की गयी थी कडा़के की ठंड़ एवं शीतलहरी को देखते कमेटी की तरफ जायरीनों के ठहरने के लिये विशेष इंतजाम किये गये थे तथा जगह -जगह अलाव की भी व्यवस्था की गयी थी | कमेटी के पदाधिकारियों एवं सदस्यों ने मेला परिसर मे घूम-घूमकर जायरीनों का हालचाल पूँछा तथा उनकी समस्याओं को मौके पर ही हल किया | मेले की शुरुआत फजिर नमाज के बाद कुल शरीफ के कार्यक्रम से हुई | कुल शरीफ के कार्यक्रम मे उलमा-ए-कराम के साथ-साथ कई मदरसे के बच्चों एवं जायरीनों ने शिरकत की | इसके बाद नातिया मुशायरा, कव्वाली, लंगर आदि का कार्यक्रम परंपरागत रूप से दिन भर चलता रहा, कमेटी की तरफ से जायरीनों को खिंचडी़ खिलायी गयी | बसन्त मेले मे पडोसी देश नेपाल से मजार शरीफ पर आयी महिलाओं ने नाचते-गाते हुए अपनी आकर्षक एवं रंग-बिरंगे परिधानों में जत्थों मे आकर मजार शरीफ पर माथा टेककर अपनी मुरादें माॅगीं उनकी अनुशासनप्रियता एवं पोशाक विशेष आकर्षण का केन्द्र रही |
इस मौके पर सदर रईस अहमद, सेक्रेट्री/प्रबन्धक इसरार अहमद इदरीसी, नायब सदर शमशेर राना एवं जकी अहमद, खजाॅची सद्दाम हुसैन, सदस्य लियाकत खाँ, अनवारुल हसन, सईद खाँ, राहत अली, शब्बीर
अहमद तथा चुन्ना समेत सभी पदाधिकारी एवं सभी सदस्य मौजूद रहे |

द्वारा- *इसरार अहमद इदरीसी*
*सेक्रेट्री/प्रबन्धक*
*दरगाह हजरत सैयद हाशिम अली शाह उर्फ लक्कड शाह रहमतुल्लाह अलैह, मुर्तिहा, बहराइच*

News Plus India
साप्ताहिक समाचार पत्र व न्यूज पोर्टल
http://newsplusindia.in