भ्रष्टाचार राज्य

वर्ष बीत गया लेकिन नहीं पूरी हो सकी विवेचना अनुसूचित जाति की महिला ने पुलिस प्रशासन पर लगाया गंभीर आरोप

“कप्तान से लेकर अनुसूचित जन जाति आयोग के अध्यक्ष से लगायी निष्पक्ष /अविलंब विवेचना की गुहार ”

रिपोर्ट सुधीर शुक्ल जिला संवाददाता गोण्डा

यूपी गोण्डा । मामला थाना क्षेत्र मोतीगंज क़े ग्राम बेलावां जनपद गोंडा का है जंहा की पीड़िता नीतू देवी ने ग्राम प्रधान एवं सचिव क़े विरुद्ध आवास का पैसा निकालकर गबन किए जाने संबन्धी आरोप में मुकदमा अपराध संख्या 007/2019 दिनांक 15-01-2019 क़ो न्यायालय क़े आदेश से थाना मोतीगंज में दर्ज कराया था लेकिन एक वर्ष बीत जाने क़े उपरांत भी नीतू देवी क़े मुकदमे की विवेचना पूरी नही की गयी है जबकि नीतू देवी ने बखूबी साक्ष्य पुलिस अधीक्षक महोदय क़े माध्यम से एवं व्यक्तिगत रूप से विवेचक क़ो मुहैया करा चुकी है लेकिन पुलिस प्रशासन दबाव एवं प्रभाव में निर्धारित समय सीमा बीत जाने क़े उपरांत अथक प्रयास क़े बावजूद भी विवेचना पूरी नही की गयी है । अब नीतू देवी ने जिला प्रशासन से लेकर शासन क़े उच्चाधिकारियों क़े साथ साथ आयोग क़ो अप्रोच किया है औऱ न्याय की गुहार लगाते हूए मांग की है की निष्पक्ष अविलंब विवेचना पूर्ण कराकर आरोप पत्र माननीय न्यायालय में दाखिल कराया जाए लेकिन अब देखना यह है कि आयोग औऱ इस मामले क़ो कितनी गंभीरता से लेता है । इतना ही नही उक्त विवेचना क़ो लेकर दिलचस्प बात यह भी है कि विवेचना अधिकारी एस.क़े रवि ने आरोपियों से मोटी धन उगाही करके दबाव एवं प्रभाव में मामले का पतन करते हूए फाइनल रिपोर्ट प्रस्तुत कर दिय थे जो कि पुनः विवेचना हेतु पत्रावली क़ो उन्ही क़े पास वापस भेज दिया गया था लेकिन नमक अदा करते हूए क्षेत्राधिकारी / विवेचना अधिकारी एस क़े रवि कार्यवाही की हिम्मत नही जुटा पा रहे थे, पीड़िता ने अथक प्रयास किया शासन प्रशासन क़ो अनगिनत पत्राचार किया लेकिन आरोपियों क़े रसूख क़े चलते जिला प्रशासन ने विवेचना क़ो अन्य विवेचक क़े पास स्थान्तरित भी नही किया जिससे पुलिसिया सिस्टम पर सवाल खड़ा होना लाजमी भी प्रतीत हो रहा है अब देखना यह है कि जिला प्रशासन , शासन एवं आयोग से पीड़िता क़ो क्या न्याया मिल सकेगा ।

Rajni Kant Tiwari
यूपी प्रभारी न्यूज़ प्लस इण्डिया सम्पर्क सूत्र 9839946832
http://www.newsplusindia.in