देश-विदेश

भारत ने दिखाई ताकत, पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का किया सफल परीक्षण

ब्युरो रिपोर्ट न्यूज़ प्लस इण्डिया

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने बुधवार को आंध्र प्रदेश के कुर्नूल में फायरिंग रेंज से मैन पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल सिस्टम का सफल परीक्षण किया । यह मिसाइल प्रणाली का तीसरा सफल परीक्षण है, जिसे भारतीय सेना की तीसरी पीढ़ी के एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल की आवश्यकता के लिए विकसित किया जा रहा है।

इसको रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने विकसित किया है । मैन पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेंड मिसाइल का वजह बेहद कम है। इस मिसाइल को मैन पोर्टेबल ट्राइपॉड लॉन्चर से लॉन्च किया गया था। इसने अपने लक्ष्य को बेहद सटीकता और आक्रामकता के साथ भेद दिया ।

मैन पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेंड मिसाइल का यह तीसरी बार सफल परीक्षण किया गया है। केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने इस मिसाइल के सफल परीक्षण के लिए डीआरडीओ को बधाई दी है। आपको बता दें कि एमपीएटीजीएम का परीक्षण उस समय सामने आया है, जब से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान के साथ तनाव बढ़ा हुआ है।

इससे पहले भारतीय सेना ने राजस्थान के पोखरण फील्ड फायरिंग रेंज में तीसरी पीढ़ी के एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल ‘नाग’ का सफल परीक्षण किया था। नाग मिसाइल को भी डीआरडीओ ने विकसित किया है। अब तीसरी पीढ़ी के गाइडेड एंटी-टैंक मिसाइल नाग को बनाने का काम इस साल के आखिर में शुरू हो जाएगा। अब तक इसका ट्रायल चल रहा था ।

Rajni Kant Tiwari
यूपी प्रभारी न्यूज़ प्लस इण्डिया सम्पर्क सूत्र 9839946832
http://www.newsplusindia.in