स्वास्थ्य

अरुण जेटली की हालत नाजुक, वेंटिलेटर से हटाकर ECMO पर रखा गया

एक सप्ताह से एम्स में भर्ती पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली की हालत बेहद नाजुक बनी हुई है। वे आईसीयू में भर्ती हैं। उनकी हालत इस वक्त इतनी खराब है कि उन्हें वेंटिलेटर से हटाकर ईसीएमओ यानी एक्सट्राकॉर्पोरियल मेंब्रेन ऑक्सीजिनेशन (Extracorporeal membrane oxygenation) पर रखा गया है।
गौरतलब है कि ईसीएमओ पर मरीज को तभी रखा जाता है जब दिल, फेफड़े ठीक से काम नहीं करते और वेंटीलेटर का भी फायदा नहीं होता। इससे मरीज के शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाया जाता है। मालूम हो कि उन्हें संक्रमण ने चपेट में ले लिया है। शनिवार सुबह जेटली का हालचाल जानने राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह एम्स पहुंचे।

गृहमंत्री अमित शाह आज दोबारा जेटली का हाल जानने एम्स जाएंगे। इसके साथ ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और बसपा सुप्रीमो मायावती भी पहुंची हैं। मायावती अरुण जेटली के परिजनों से भी मिलीं। कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी भी जेटली से मिलने अस्पताल पहुंचे हैं।

खबर है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी दिल्ली आ रहे हैं और हवाई अड्डे से सीधे एम्स अरुण जेटली को देखने पहुंचेंगे।

शुक्रवार को भी पहुंचे थे कई मंत्री
शुक्रवार को उनकी तबीयत में अचानक गिरावट दिखी। उनका उपचार कर रहे एम्स के वरिष्ठ डॉक्टरों ने आनन-फानन में दवाओं की डोज बढ़ाने का फैसला लिया। उधर, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद उनके स्वास्थ्य की जानकारी लेने और उनके परिजनों से मिलने के लिए एम्स पहुंचे। उनके साथ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे भी थे।

News Plus India
साप्ताहिक समाचार पत्र व न्यूज पोर्टल
http://newsplusindia.in